Breaking News

व्यापारियों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करने की कार्यवाही का देवभूमि व्यापार मंडल ने किया विरोध, आंदोलन की चेतावनी

 

अल्मोड़ा: व्यापारियों व जनप्रतिनिधियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की कार्यवाही का देवभूमि उद्योग व्यापार मंडल ने विरोध किया है। व्यापारी नेताओ ने कहा कि जाखनदेवी सड़क में सीवर लाइन के कार्य में जिस तरह की लेटलतीफी की गई है उसके लिए जिम्मेदार अधिकारियों व ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए, लेकिन उलट प्रदर्शकारियों पर मुकदमे की कार्यवाही की गई है। जिसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। पदाधिकारियों ने व्यापारियों व जनप्रतिनिधियों पर दर्ज मुकदमें वापस नहीं होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है।

 

 

दरअसल, जाखनदेवी सड़क को दुरुस्त करने की मांग को लेकर बीते रोज धरना-प्रदर्शन के दौरान सड़क जाम करने के बाद पुलिस द्वारा 50 से अधिक अज्ञात व्यापारियों व जनप्रतिनिधियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस की इस कार्रवाई के बाद व्यापारी संगठनों में खासा रोष है। इस संबंध में देवभूमि उद्योग व्यापार मंडल के जिले व नगर ईकाई की एक आपात बैठक आहूत की गई। बैठक में वक्ताओं ने कहा कि प्रदर्शनकारियों के खिलाफ पुलिस द्वारा सड़क जाम करने के मामले में मुकदमें दर्ज करने की कार्रवाई न्याय संगत नहीं है।

देवभूमि उद्योग व्यापार मंडल के जिला अध्यक्ष मनोज सिंह पवार ने कहा अगर पुलिस को मुकदमें दर्ज करने ही है तो सर्वप्रथम शिखर तिराहे से जाखनदेवी सड़क के सीवर लाइन कार्य से सम्बन्धित विभाग जल निगम के अधिशासी अभियंता, ठेकेदार व अन्य इस कार्य से जुड़े जिम्मेदार आधिकारियों के खिलाफ दर्ज कर करवाई होनी चाहिए। पिछले दो माह का समय बीत जाने के बाद भी प्रशासन, पुलिस व संबंधित विभाग को उस सड़क पर निवास कर रहे लोगो, व्यापारियों, आने जाने वाले लोगों, वाहनों की दिक्कतों का तो ध्यान नहीं रहा। लेकिन जब व्यापार मंडल, स्थानीय व्यापारियों, जनप्रतिनिधियों द्वारा सीवर लाइन के नाम पर पिछले दो माह से बदहाल की गई सड़कों को ठीक करने के लिए आवाज उठाई गई तो उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया। उन्होंने कहा कि पिछले दो माह से अधिक समय से वाहन चालकों, राहगीरों व स्थानीय व्यापारियों को जिस तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है उसे देखते हुए गैर जिम्मेदार आधिकारियों पर मुकदमा दर्ज होना चाहिए न कि प्रदर्शनकारियों पर।

 

 

नगर अध्यक्ष संजय साह रिक्खू ने कहा कि जाखनदेवी में हो रहे कछुआ चाल से सीवर लाइन के कार्य के विरोध में व्यापार मंडल, व्यापारियों व जनप्रतिनिधियों द्वारा ज्ञापन प्रेषित किए गए और प्रशासन से निवेदन किया गया था, कि जल्दी इस कार्य को सुचारू रूप से चला सके जिससे कि आम जनमानस और व्यापारियों को इसका लाभ मिल सके। लेकिन जिला प्रशासन ने कार्य मे तेजी लाने के बजाय प्रदर्शनकारियों के खिलाफ मुकदमें दर्ज किये है। उन्होंने कहा कि देवभूमि व्यापार मंडल पुलिस के इस कृत्य की घोर निंदा करता है।

इस दौरान निर्णय लिया गया कि अगर जल्द ही व्यापारियों व जनप्रतिनिधियों पर दर्ज मुकदमे वापस नहीं लिए गए तो देवभूमि व्यापार मंडल आगे की रणनीति तय करके आंदोलन करने को बाध्य होगा, जिसकी संपूर्ण जिम्मेदारी जल निगम की होगी।

 

 

बैठक में प्रदेश उपाध्यक्ष मनोज वर्मा, वरिष्ठ व्यापारी व पूर्व व्यापार मंडल अध्यक्ष दिनेश गोयल, जिला प्रभारी युसूफ तिवारी, जिला कार्यकारी अध्यक्ष प्रमोद पवार ‘भीमा’, जिला महामंत्री हिमांशु कांडपाल, नगर महासचिव दीप चंद्र जोशी, जिला महिला उपाध्यक्ष वंदना वर्मा, नगर महिला उपाध्यक्ष मनु गुप्ता, जिला उपाध्यक्ष हिमांशु बिष्ट, नगर उपाध्यक्ष दीपक जोशी, आनंद सिंह भोज, जिला संयुक्त महामंत्री कमल बिष्ट, जिला संगठन मंत्री नीरज थापा ‘बिट्टू’, जिला कोषाध्यक्ष गणेश जोशी ‘गुड्डू’, नगर कोषाध्यक्ष रोहित साह, जिला मंत्री दिनेश कांडपाल, दीपक बिष्ट, दीपक नायक, नगर उपसचिव जयप्रकाश पांडे, अमन टकवाल, मनीष मल्होत्रा, सुधीर गुप्ता, राजू कुमार, जिला प्रचार मंत्री दीक्षित जोशी आदि मौजूद रहे।

Check Also

binsar accident

बिनसर हादसा:: मृतकों व घायलों के परिजनों से मिली कैबिनेट मंत्री रेखा आर्य, जानिए मंत्री ने क्या कहा

अल्मोड़ा: बिनसर में बीते दिनों हुए दर्दनाक हादसे के बाद मृतकों के गांव में मातम …