Breaking News

जामिया के प्रोफेसर मो. ज़ाहिद अशरफ को मिला विज़िटर्स अवार्ड

नई दिल्ली। जामिया मिल्लिया इस्लामिया के प्रोफेसर मो. जाहिद अशरफ, प्रमुख, जैव प्रौद्योगिकी विभाग को प्रतिष्टित विज़िटर्स अवार्ड मिला है। राष्ट्रपति भवन में आयोजित विज़िटर्स सम्मेलन 2022 के दौरान राष्ट्रपतिराम नाथ कोविंद द्वारा उन्हें यह अवार्ड दिया गया। विज़िटर्स सम्मेलन में जामिया कुलपति प्रोफेसर नजमा अख्तर भी शामिल थीं।

प्रो. अशरफ को ब्लड क्लोटिंग ऑन एक्स्पोज़र टू हाइपोक्सिया एट हाइ एल्टिट्यूड के रहस्य को सुलझाने पर उनके अग्रणी शोध के लिए पुरस्कार मिला। उन्हें प्रशस्ति पत्र और पुरस्कार राशि के रूप में 2,50,000/- रुपये प्राप्त हुए। प्रो. अशरफ को जैविक विज्ञान श्रेणी के तहत यह पुरस्कार प्रदान किया गया जिसके लिए 29 आवेदन प्राप्त हुए थे। प्रो. अशरफ के हाइपोक्सिया के क्षेत्र में अपार योगदान और हृदय रोगों के विकास में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका को ध्यान में रखते उनका चयन इस अवार्ड के लिए किया गया।

कुलपति प्रो नजमा अख्तर जिन्हें हाल ही में पद्म श्री से सम्मानित किया गया है, उन्होंने इस सम्मान के लिए प्रो. अशरफ को बधाई दी और कहा कि यह विश्वविद्यालय द्वारा अनुसंधान उपलब्धियों में से एक है। उन्होंने जोर देकर कहा कि जामिया के गौरवशाली इतिहास में पहली बार एक साथ कई उपलब्धियां हासिल हुई हैं। कहा कि प्रो. अशरफ की उपलब्धियां अन्य संकाय सदस्यों को शिक्षाविदों के साथ-साथ अनुसंधान में उत्कृष्टता की खोज के लिए प्रेरित करेंगी।

कुलपति ने आगे कहा कि विश्वविद्यालय विज्ञान शिक्षा, अनुसंधान और एसटीईएम को बढ़ावा देने के लिए भारत सरकार के मिशन के प्रति प्रतिबद्ध है। प्रो. अशरफ राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी, इलाहाबाद और भारतीय विज्ञान अकादमी, बैंगलोर के निर्वाचित फेलो हैं। वे प्रतिष्ठित गुहा अनुसंधान परिषद के सदस्य हैं।

प्रो. अशरफ भारतीय आबादी में हाइ एल्टिट्यूड से संबंधित थ्रोंबोसिस पर अपने मौलिक कार्य के लिए ICMR के बसंती देवी अमीर चंद और DBT के राष्ट्रीय जैव विज्ञान पुरस्कार के प्राप्तकर्ता भी हैं। उनके शोध के परिणाम ने पहाड़ों, खेल, तीर्थयात्रा और विषम वातावरण में सैनिकों के काम करने पर ब्लड क्लोटिंग बनने की हमारी समझ को अंतर्दृष्टि प्रदान की है।

गौरतलब है कि यह दूसरी बार है जब जामिया के किसी प्रोफेसर को विजिटर अवार्ड से नवाजा गया है। इससे पहले 2015 में, सेंटर फॉर थ्योरेटिकल फिजिक्स, जेएमआई के प्रो. एम. सामी की अध्यक्षता में कॉस्मोलॉजी एंड एस्ट्रोफिजिक्स रिसर्च ग्रुप को एस्ट्रोफिजिक्स एंड कॉस्मोलॉजी में कंटेम्परेरी इश्यूज के क्षेत्र में किए गए पथ-प्रदर्शक शोध के लिए विज़िटर अवार्ड मिला था।

Check Also

Uttarakhand Forest Fire:: उत्तराखंड के सुलगते जंगलों पर सुप्रीम कोर्ट सख्त, केंद्र और राज्य सरकार को लगाई फटकार, चीफ सेक्रटरी तलब

नई दिल्ली: उत्तराखंड के सुलगते जंगलों (Uttarakhand Forest Fire) ने हर किसी को गंभीर कर …